बूढ़ा शेर और लालची मनुष्य

यह कहानी है एक शेर की। वह शेर समय के साथ-साथ बूढ़ा हो चला था और उसे अब शिकार करने में दिक्कत होती थी। उसका शरीर कमजोर पड़ चुका था और वह अब शिकार करने लायक भी नहीं था। जब कभी भी वह शिकार के लिए निकलता तो उसकी रफ्तार कम होने की वजह से बाकी के जानवर जल्दी दूर भाग जाते थे। इस वजह से वह भूखा रहने लगा था। उसे समझ नहीं आ रहा था कि वह किस तरह से अपना पेट भरेगा। अगर वह इसी तरह से भूखा रहा तो वह मर जाएगा।

तभी वह एक नदी के पास पानी पीने गया। पानी पीते-पीते उसने देखा कि दूर एक चीज चमक रही थी। ऐसे में वह उस चमकती चीज के पास गया। शेर ने देखा कि वह एक सोने का कंगन था। वह उस सोने के कंगन को देखकर सोचा कि वह उस कंगन के सहारे यहां से जाते हुए मनुष्य को लालच देगा और जैसे ही वे लोग उसके पास आएंगे उसे वह मारकर खा जाएगा।

वह नदी के किनारे बैठकर लोगों के आने का इंतजार करता था। तभी कुछ लोग नदी के दुसरी तरफ से जा रहे थे। शेर ने उनसे कहा, “यह देखो मेरे पास एक कंगन है और यह सोने का है। यह बहुत ही कीमती है इसे बेचकर तुम अच्छा धन कमा सकते हो। तुम चाहो तो इसे आकर ले सकते हो।”

वे लोग जानते थे कि शेर खूंखार होता है। इस वजह से कोई भी उसके पास नहीं गया और वे सब अपना जान बचाने के चलते वहां से चले गए। शेर ने यह तरकीब बहुत से लोगों के साथ आजमाई लेकिन कोई भी उसके चंगुल में नहीं फस रहा था। एक दिन एक बूढ़ा आदमी वहां से गुजर रहा था और नदी के उस पार शेर बैठ कर आराम कर रहा था।

शेर की नजर उस बूढ़े आदमी पर पड़ी। शेर ने उसे चिल्लाकर कहा, ‘मेरे दोस्त मैं बूढ़ा हो चला हूं। मैं चाहता हूं कि मैं लोगों को कुछ दान दूँ। यह देखो मेरे पास एक सोने का कंगन है मैं तुम्हें इसे देखकर पुण्य कमाना चाहता हूं ताकि मैं स्वर्ग जा सकूं। तुम आओ और इसे ले जाओ।”

वह व्यक्ति शेर की बात में आ गया और कंगन के लालच में वह शेर के पास जाने लगा। वह बूढ़ा व्यक्ति नदी में उतरा और चलते-चलते दूसरे किनारे की ओर जा पहुंचा। वहाँ दलदल था जिसकी वजह से वह बूढ़ा व्यक्ति वहां फंस गया था। वह जितना जोर लगाता था उतना ही वह उसमें फंसता जाता। शेर जान चुका था कि उसके जाल में वह व्यक्ति फस चुका है। तभी वह मौका देखकर उसके पास गया और उसे मारकर खा गया। इस तरह से शेर ने अपनी लंबी भूख मिटाई और वह अब अच्छा महसूस कर रहा था।

इस कहानी से हमें यह संदेश मिलता है कि हमें कभी भी अत्यधिक लालच नहीं करना चाहिए। ज्यादा लालच करने से हम मुसीबत में फंस सकते हैं या हमारी जान भी जा सकती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.